Monday, 31 August 2020

Nainital Bank 155 Vacancies for Clerk and PO Recruitment 2020 Notification and Details

Nainital Bank Ltd. Announced for 155 PO & Clerk Post Recruitment 2020 | Apply Now Online

Nainital Bank Limited has announced the advertisement for the recruitment of 155 PO & Clerk posts which can be applied through online via their official website and candidates can also make the examination fee payment online. Check out the below given more details of Recruitment.



The Total Vacancies for this recruitment is 155 in which 75 posts are for Bank PO (Probationary Officer) and 80 Post for Clerical Cadre. So if you want to make you career as a banker and you really have that preparation skill to clear the exam then you should apply for it and its the time to go for your career option. As well as the bank also required if you have any previous banking experience means its not mandatory but if you have it, you will be preferred in selection process.

Total Vacancies - 155
Bank Name - Nainital Bank Ltd.
Post Types :-  Bank PO / Clerk.
Starting Date of Online Applications:- 29th August 2020.
Last Date of Online Application Submission:- 15th September 2020.  

Education Qualification Required:- 
1. For Bank PO Posts;-  Graduation Degree from any recognized university with minimum 50% Marks/ Post Graduation with 50% Marks. Knowledge of Computer Operations.
Preference :- 1,2 Years experience in any Banking/Finance/NBFC's will be given preference in the selection process.

2. For Clerical Posts:- Any graduate degree from recognized University with minimum 45% Marks and Computer Knowledge. Preference will be same as above.

Age Limit:- 
1. For BANK PO -  21 to 30 Years.
2. For Clerical Post - 21 to 28 Years.

Application Fees:- 
1. For BANK PO - 2000/- INR (Including of GST).
2. For Clerical Post - 1500/- INR (Including of GST).

How to Apply:- To apply visit the official website of Nainital Bank which is www.nainitalbank.co.in, and check for recruitment/career section and then you will find the registration process and then fee payment with uploading the scan documents of your qualifications.



Selection Process:- The Selection will be made on the basis of a Written Examination and then Interview process. After clearing both the exams the candidate will be selected for the given posts.

Examination Details:-
1. BANK PO:- 
  1. REASONING- 60 Questions - 60 Marks - 45 Minutes.
  2. English Language - 40 Questions - 40 Marks - 35 Minutes
  3. Quantitative Aptitude- 50 Question - 50 Marks - 40 Minutes
  4. General Awareness (Bank Inc) - 50 Questions - 50 Marks - 25 Minutes
2. Clerical Posts: - 
  1.  REASONING- 40 Questions - 40 Marks - 35 Minutes.
  2. English Language - 40 Questions - 40 Marks - 35 Minutes
  3. Quantitative Aptitude- 40 Question - 40 Marks - 35 Minutes
  4. General Awareness (Bank Inc) - 40 Questions - 40 Marks - 20 Minutes
  5. Computer Knowledge - 40 Questions - 40 Marks - 20 Minutes
Salary:- 
1. BANK PO - CTC Would be Approx. 7 Lacs Per annum.
2. Clerk Cadre - CTC Would be approx. 3.70 Lacs per annum.

Job Locations:- Uttarakhand, Uttar Pradesh, Haryana and Rajasthan.

So if you are willing to apply for these vacancies then you can apply through online and we wish you best of luck for your future. Stay tuned with us for more jobs updates.
Share:
Continue Reading →

कुम्भ मेला २०२१ अपने निर्धारित समय से ही होगा | मुख्यमंत्री जी ने खुद दी जानकारी

कुम्भ मेला २०२१ अपने निर्धारित समय से ही होगा | मुख्यमंत्री जी ने खुद दी जानकारी

कुम्भ मेला २०२१ में होने वाला है अपने निर्धारित तिथि के अनुसार ही होगा और उत्तराखंड के वर्त्तमान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने स्वयं इसकी जानकारी दी।  और यह भी कहा है की सारी तैयारियां जारी है और हर योजना को क्रियान्वन में लाया जा रहा है। 

 


जैसा की आप लोग जानते ही होंगे की कुम्भ मेला हर १२ साल में हरिद्वार तथा अन्य स्थलों पर होता है जो की इस साल हरिद्वार में होने वाला है।  लेकिन पहले कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते यह खबर आ रही थी की कुम्भ मेले को एक साल शायद आगे बढ़ाया जाये। और इस साल स्थगित किया जा सकता है।  लेकिन आखाड़ों केमहामंडलेश्वरों तथा अन्य मेला सभा के लोगों द्वारा इसका विरोध किया गया और सरकार को यह निर्णय लेना पड़ा की २०२१ में ही कुम्भ मेले का आगाज किया जाएगा। 

क्योंकि इस साल कोरोना वायरस के चलते चारधाम यात्रा उत्तराखंड भी बंद रही और जिस कारण प्रदेश में पर्यटन को काफी ज्यादा नुकसान हुआ। और अन्य व्यवसाय भी बंद होने की कगार पर हैं।  इसलिए अगर कुम्भ मेला २०२१ में होता है तो पर्यटन को शायद फिर से एक बार गति मिले। 

शनिवार को हुई चर्चा के दौरान मुख्यमंत्री ने कुम्भ मेले से सम्बंधित कार्यों को १५ दिसंबर से पहले पूर्ण करने के आदेश दिए। तथा मनसा देवी हिल बाईपास की सड़क को भी मेले के दौरान चालू करने के निर्देश दिए एवं उसमे तथा अन्य सडकों के भी निर्माण में तेजी लाने के निर्देश दिए। 

अगले साल १० जनवरी से ही कुम्भ मेले का सुभारम्भ हो जायेगा जो की आगे फरवरी तक चलेगा। 


उत्तराखंड से जुडी हुई ख़बरों के लिए बने रहिये हमारे साथ।

Share:
Continue Reading →

Sunday, 30 August 2020

उत्तराखंड का इतिहास | कुणिंद वंश का शासन काल | प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए पार्ट - १

उत्तराखंड का प्रागैतिहासिक काल और इतिहास के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु। उत्तराखंड की समस्त परीक्षाओं के लिए | कुणिंद वंश का शासन काल

अगर हम उत्तराखंड के सबसे पुराने इतिहास की बात करें तो हमें कोई ख़ास जानकारी तो नहीं मिलती परन्तु कहीं उल्लेख मिलता है। किसी किताब में या फिर अभिलेखों में। क्योंकि उत्तराखंड का लिखित इतिहास उतना नहीं मिलता जितना अन्य राज्यों का या फिर देश का मिलता है।  सबसे पहले अगर हम बात करें तो कुणिंद शासन काल का पता चलता है।  जो की महाभारत के वन पर्व में भी पुलिंद या कुणिंद वंश का उल्लेख किया गया है। और यहाँ के राजा को उस समय सुबाहु नाम से बताया गया है। लेकिन यह भी कहा जाता है की सर्वप्रथम यहाँ पर कोल जनजाति का निवास था। जो यहाँ के मूल निवासी थे तथा मध्य एशिया से नहीं आये थे।  उसके बाद यहाँ पर किरात आये और कोल लोगों को युद्ध में हराकर मैदानी भागों से पहाड़ी भागों में भगाया। लेकिन साथ में उन्होंने कोलों के साथ वैवाहिक सम्बन्ध भी स्थापित किये। फिर शुरुआत होती है कुणिंद वंश जिनको पुलिंद भी कहा जाता है। और जब कुणिंद वंश के बारे में प्रमाण की बात आती है तब तक भारत पर मौर्य काल शासन शुरू हो चूका था। और मोर्योत्तर काल के कुछ अभिलेख कालसी देहरादून में भी मिलते हैं। तो आप समझ ही सकते हैं की बौद्ध आये 563 ई. पु. और उनके काफी बाद ही मौर्य काल शुरू होता है। तो लगभग अगर हम माने तो इस समय को 300 ई. पु. से लेकर 300 ईस्वी तक कुणिंद शासन काल मान सकते हैं। 


कुणिंद शासन काल के बारे में हमें तीन प्रकार की मुद्राओं से पता चलता है। अमोधभूति मुद्रा, अल्मोड़ा प्रकार की मुद्रा और छत्रेश्वर प्रकार की मुद्रा। अमोधभूति प्रकार की मुद्रा में हमें यह ज्ञात पड़ता है की उसमे लिखा गया है "महाराज अमोधभूति" तो यहाँ से हमें एक राजा का नाम पता चलता है और यह भी कहा जाता है की कुणिंद वंश से सबसे महान राजा शायद यही रहे होंगे। और सबसे महत्वपूर्ण बात यह भी पता चलती है की कुणिंदों की राजधानी उस समय श्रीनगर में रही होगी। लेकिन यह तब की बात है जब मौर्य काल शुरू भी नहीं हुआ था।  उसके बाद कुणिंदों की राजधानी तो कालकोट कलसी भी बताया जाता है और इसे उस समय शत्रुघ्न नगर कहा जाता था। जो की एक काफी बड़ी राजधानी रही होगी जिसमे आज का सहारनपुर भी शामिल है। 

अमोधभूति प्रकार की जो मुद्राएं मिलती हैं वह रजत यानि की चांदी और ताम्बे से बानी हुई थी। और जिस लिपि में लिखा गया है वह ब्राह्मी लिपि है। मुद्राओं के आधार पर अन्य जिन राजाओं का पता चलता है वो हैं "विशदेव, धनभूति, अगर्राज और अमोधभूति। और साथ में यह भी कहा जाता है की इनका शासन वंशानुगत ना होकर कर्मानुगत रहा होगा। 

कुणिंदो की राजधानी की बात करें तो मुद्राओं के आधार पर पता चलता है की इनकी राजधानी , श्रीनगर , कालसी , शत्रुघन नगर और फिर कुमांऊँ में रही होगी। कुणिंदो के शासन के दौरान एक और राजा का पता चलता है राजा शीलवर्मन, जिन्होंने अश्वमेघ यज्ञ भी कराया था।

तो दोस्तों यह थी कुणिंदो या फिर कहें की कुणिंद वंश का शासन काल।  इसके बाद यहाँ पर आते हैं पौरव वंश और अगले भाग में हम इसी वंश के बारे में जानेंगे। 

धन्यवाद् तब तक के लिए बने रहिये साथ।

Share:
Continue Reading →

अगर आना चाहते हैं उत्तराखंड तो अब 2000 लोगों वाली शर्त हुई खत्म

अगर आना चाहते हैं उत्तराखंड तो अब 2000 लोगों वाली शर्त हुई खत्म | हर कोई आ जा सकेगा अब उत्तराखंड | नई शर्तें लागू

दोस्तों जैसा की आप लोगों को पता ही होगा की कुछ समय पहले उत्तराखंड सरकार ने नए नियम के अनुसार यह निर्धारित कर दिया था की एक दिन सिर्फ 2000 लोग ही उत्तराखंड में आ सकते हैं और इसके साथ ही आपको इ-पास तथा आईसीएमआर द्वारा जारी की गयी कोरोना वायरस की नेगेटिव होने की पुष्टि वाली रिपोर्ट जारी करानी होगी।  उसके बाद ही उत्तराखंड बॉर्डर से आप को राज्य में आने दिया जायेगा। 


खैर शनिवार को नए नियम के अनुसार अब आपको ये सब करने की जरुरत नहीं।  लेकिन इसका मतलब यह नहीं है आपको कोरोना वायरस की नेगेटिव रिपोर्ट नहीं लानी पड़ेगी। वो तो अभी भी जरुरी है लेकिन अब आपको सिर्फ स्मार्ट सिटी देहरादून के वेब पोर्टल पर पंजीकरण करना होगा। जिससे की आपकी जानकारी सरकार तक पहुंचे और यह आपकी ही सुरक्षा के लिए हैं। 

कैसे बनाये ई-पास | क्लिक करें 

प्रभारी सचिव  - आपदा प्रबंधन एस. मुरुगेशन जी ने शनिवार शाम को ही इस बात की जानकारी दी की अब नए नियम के अनुसार 2000 लोगों वाली एंट्री की समस्या को खत्म कर दिया है।  और अब कोई भी उत्तराखंड में आ सकता हैं। 

केंद्र सरकार ने २२ अगस्त को ही सारे पास व परमिशन की प्रक्रिया को निरस्त कर दिया था। 

केंद्र सरकार द्वारा नए आदेशों के अनुसार यह भी शामिल था की अब पास व परमिशन की बाध्यता ख़तम कर दी जाएगी और लोग कहीं भी आ जा सकते हैं। लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए राज्य सरकार ने यह फैसला लिया था की कुछ समय तक पास के नियम जारी रहेंगे। जिससे प्रदेश में लोगों में कोरोना का खतरा कम हो। 

बने रहिये हमारे साथ उत्तराखंड से जुडी नयी ख़बरों के लिए।

Share:
Continue Reading →

Saturday, 29 August 2020

उत्तराखंड में बाहर से आने वालों के लिए ई-पास अभी भी जरुरी | पूरी खबर

बिना ई-पास के उत्तराखंड में नहीं आ सकते हैं | जानिए कैसे बनाएं पास 

जैसा की कुछ दिन पहले ही भारत सरकार ने यह घोषणा कर दी थी की अब पास के बिना भी आवाजाही शुरू हो जाएगी। लेकिन उत्तराखंड में आने के लिए आपको ई -पास बनाने की जरुरत पड़ेगी।  इसके बिना आप उत्तराखंड में किसी भी कार्य हेतु नहीं आ सकते हैं। प्रदेश में जो भी लोग आएंगे , उन्हें ई-पास दिखाना जरुरी होगा। 


 इसलिए अगर आप भी दूसरे राज्य से उत्तराखंड में आ रहे हैं तो ई-पास जरूर बनवा लें। और बिना पास के आपको बॉर्डर पर ही रोक दिया जायेगा। 

वैसे ई-पास बनाना कोई कठिन कार्य नहीं है बस आपको उत्तराखंड सरकार की पास हेतु बनाई गयी वेबसाइट पर जाना होगा और अपना डाटा भरना होगा। 

यह वेबसाइट देहरादून स्मार्ट सिटी पोर्टल है जिसपर आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा। और उसके कुछ समय के पश्चात आपको ई-पास बनने की खबर आपके मोबाइल पर मैसेज के रूप में मिल जाएगी। 

इसके लिए आपको http://smartcitydehradun.uk.gov.in/e-pass इस लिंक पर  जाना होगा और अपना नाम, पता व अपनी आईडी और गाड़ी की संख्या भरनी है।

और उसके बाद आपको अपना मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा। फिर उसके जरिये रजिस्ट्रेशन पूरा हो जायेगा। और कुछ समय के बाद आप वह ई-पास वहीँ से डाउनलोड कर सकते हैं।
तो इस तरह से आप उत्तराखंड में आ सकते हैं। 

Share:
Continue Reading →

UKSSSC Recruitment 2020 - 746 Post Group "C" Syllabus and Previous Year Paper

UKSSSC Latest Recruitment 2020 for 746 Posts | Syllabus Details and Previous Year Question Papers and Model Papers

The Uttarakhand Subordinate Service Selection Commission (UKSSSC) has announced various recruitments for various group"C" vacancies for the year 2020. The 1st recruitment advertisment was for 746 Posts in different departments of state governments and then on 27th July UKSSSC again advertised for 300 more vacancies also in state government sector. So if you have already applied for the given recruitments then it is well and good but if you not then still there are time till Sept 9, 2020 for the latest recruitment of UKSSSC. 

 


To apply just visit the UKSSSC official website which is www.sssc.uk.gov.in. And then visit the home page where you will find the One time registration option and just go for it and after registration you need to remember your Username and Password for any other posts in future you want to apply. So after all the formalities you can directly apply for any recruitment given in your user profiles but you must follow the guidelines or you must have the required qualifications to apply for certain posts.

Well now you have applied for the recruitment and then here comes the Syllabus and Previous year question paper section, where you can check the information and study according to it.

First of all the Question Paper will consist the 100 question and 100 Marks will be there. for 4 wrong answers 1 marks will be deducted means 1/4 is negative marking.

1. Uttarakhand General Knowledge - 40 Marks.

2. General Hindi - 20 Marks.

3. Mental Ability - 10 Marks.

4. General Knowledge and General Studies - 30 Marks.

So for the full syllabus don't worry, we are still here and for that just click on the below given link and there you go. You will get a PDF file to download and ofcourse that's in Hindi.

Click for UKSSSC 746 Post 2020 Complete Syllabus

and also the last thing the model papers right, well we have it and same as above we are giving a you web link by which you can easily download the complete PDF file because we can't actually show it here, its so big but anyways you can download it.

Previous years Question Papers UKSSSC 

Well, here you go, now you guys have both of it and its time we have to stop writing and wishing you best of luck for your examinations.

Yeah also do bookmark our website for latest updates. Thank

Share:
Continue Reading →

उत्तराखंड में 159 सड़कें हुई बंद और तीन हाईवे भी | गाड़ियां भी फँसी

 बारिश के चलते उत्तराखंड में हुई 159 सड़कें बंद।

उत्तराखंड में ३ हाईवे समेत लगभग 159 सड़कें भी बंद हुई और अभी भी बारिस थमने का नाम नहीं ले रही है।  साथ में कई जगह पर गाड़ियां अभी भी फँसी हुई हैं और सड़क सही होने का इंतज़ार कर रही हैं।

काफी दिनों से मौसम विभाग द्वारा लगातार यह चेतावनी जारी भी की जा रही थी की कुछ दिन काफी ज्यादा बारिस होने की संभावनाएं हैं। 


 

लोक निर्माण विभाग के प्रमुख अभियंता ने यह कहा है की तीन नेशनल हाईवे और 2 स्टेट हाईवे के साथ अन्य 159 सड़कें बंद हैं और उनपर 283 मशीनो द्वारा अभी भी कार्य जारी है। जिससे समय समय पर सड़कें खोल दी जा रही हैं। 

चमोली जिले में भी सड़क पर मलबा आने से ग्रामीण परेशान 

गोपेश्वर चमोली के पास ही पुरसाड़ी में पहाड़ से सड़क पर मलबा आ जाने से वहां के लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।  जिस कारण गोपेश्वर, चमोली और जोशीमठ में सब्जियों की किल्लत हो रही है और लोग परेशान हैं। 

श्रीनगर ऋषिकेश हाईवे 20 सितम्बर तक रहेगा बंद। 

श्रीनगर और ऋषिकेश हाईवे तोताघाटी में होने वाले पहाड़ की कटान के चलते अब २० सितम्बर तक बंद रहेंगे और वहां नरेंद्र नगर - चम्बा मार्ग से होते हुए श्रीनगर, रुद्रप्रयाग और चमोली जिले में प्रवेश करेंगे। पहले यह राष्ट्रीय राजमार्ग का कार्य की अंतिम तिथि ३१ अगस्त निर्धारित की थी परन्तु अभी बारिस और अन्य मौसम ही असुविधाओं के चलते इसे २० दिन और बढ़ाया गया है। 

उत्तराखंड से जुड़ी अन्य खबरों के लिए पढ़ते रहिये उत्तराखंड की अपनी वेबसाइट।

Share:
Continue Reading →

उत्तराखंड में शुक्रवार को मिले 588 मरीज कोरोना के मरीज आंकड़ा पंहुचा 18000 के पार

 उत्तराखंड में शुक्रवार को मिले 588 मरीज कोरोना के मरीज | सारे रिकॉर्ड टूट गए 

 उत्तराखंड में कोरोना वायरस  के एक ही दिन में नया रिकॉर्ड देखने को मिला। अब नए 588मरीजों को मिलाकर उत्तराखंड में कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 17865 पहुँच गयी है। जिसमे एक ही दिन में 11 लोगों की मौत हो गयी। राजधानी देहरादून में एक ही दिन में 185 कोरोना संक्रमित मरीज मिलने का भी रिकॉर्ड बना।
अब तक 12124 मरीज ठीक हो चुके हैं और अपने घर को जा चुके हैं।  बाकि बचे  लोगों का अभी भी इलाज चल रहा है। 

 


स्वास्थय बिभाग की रिपोर्ट के अनुसार शुक्रवार यानि की 28 तारीख को 7140 नेगेटिव रिपोर्ट भी आयी हैं। देहरादून में 185 , हरिद्वार में 120 , उधम सिंह नगर 72 , चमोली में  45, नैनीताल में 55,  टिहरी में 26, पौड़ी में 18, अल्मोड़ा में 13, बागेश्वर और पिथौरागढ़ में १२-१२ , चम्पावत और उत्तरकाशी में ६-६ और रुद्रप्रयाग में 5 मरीज मिले हैं।  जिससे यह भी पता चलता है की कोई भी जिला कोरोना संक्रमण से अभी तक भी अछूता नहीं है।

पिछले 15 दिनों में कोरोना संक्रमण की दर राज्य में लगभग 0.39 प्रतिशत बढ़ गई है।  कोरोना संक्रमित मामलो में सबसे ऊपर हरिद्वार जिला है और फिर उधम सिंह नगर, तीसरे पर है देहरादून और चौथे नंबर पर है नैनीताल। 

तो आप लोगों से यह अनुरोध है की अपने घरों में रहें और जब तक अत्यंत जरुरी न हो घर से बाहर ना निकलें।

 


Share:
Continue Reading →

Tuesday, 30 June 2020

टिक टोक समेत कई एप्प हुए भारत में बंद | जानिए अब लिखा रहा है टिक टोक में

टिक टोक समेत कई एप्प हुए भारत में बंद | जानिए अब लिखा रहा है टिक टोक में 

लद्दाख के पूर्वी छेत्र में हुए भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच संघर्ष के पश्चात् लोगों में काफी आक्रोश शुरू हो गया था। और लोगों ने चीनी वस्तुओं पर काफी नाराजगी जताई और भारत में प्रतिबंधित करने की मांग की तथा खुद भी लोगों ने काफी चीन निर्मित वस्तुओं और मोबाइल्स, एप्लीकेशन को हटा दिया। आखिर भारत सरकार को भी इस पर अपना निर्णय लेना पड़ा। और अब सरकार ने टिक टोक समेत ५९ चाइनीज मोबाइल एप्लीकेशन पर पूर्ण रूप से बैन लगा दिया है। 



यह एक अच्छा कदम भी है , क्योंकि बताया जा रहा था की चीन इन एप्लीकेशन से लोगों के डाटा एवं जानकारियों का गलत फायदा भी उठा सकता हैं। 

खैर हमने इसकी पड़ताल की , तो हमें कुछ जानकारियां मिली। सबसे पहले हम गूगल प्ले स्टोर पर गए।  वहां पर ये सब ऍप्स अभी भी मौजूद हैं।  और चूँकि ये ऍप्स सिर्फ भारत में ही बैन हैं तो गूगल प्ले स्टोर पर तो रहेंगे ही।

उसके बाद हमने टिक टोक एप्प को अपने मोबाइल में स्टोर किया।  जो की इनस्टॉल हो गया लेकिन जब हमने प्रोफाइल सेक्शन या कोई वीडियो देखने की कोशिश की तो वहां पर हमें कुछ भी नहीं मिला और स्क्रॉल करने पर एक मैसेज आया की अब यह सर्विस भारत में उपलब्ध नहीं है।  जैसा की आपको निचे दी गयी तस्वीर में दिख ही रहा होगा।



टिक टोक के साथ लइकी और अन्य एप्लीकेशन भी बंद कर दिए गए हैं। आप निचे दिए गए तस्वीर में पता कर सकते हैं की कौन कौन से एप्लीकेशन बंद कर दिए गए हैं। 



इसके साथ ही उत्तराखंड सरकार ने देहरादून में चाइनीज लोगों और चाइनीज वस्तुओं और खाने पे भी रोक लगा दी है।  जो की चीन को जवाब देने का एक अच्छा तरीका है।  आप इन सब बातों से कितने सहमत हैं नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखे। 

अपडेट - टिक टोक तथा अन्य एप्लीकेशन को भारत में गूगल प्ले स्टोर से भी हटाया गया।  अगर अप्प गूगल प्ले स्टोर में ढूंढेंगे तो आपको नहीं मिलेगा। 
Share:
Continue Reading →

अनलॉक 2.0 भारत में 1 जुलाई से क्या खुलेगा और क्या रहेगा बन जाने पूरी खबर

अनलॉक 2.0 भारत में 1 जुलाई से क्या खुलेगा और क्या रहेगा बन जाने पूरी खबर

1 जून से अनलॉक 1.0 शुरू हुआ था हालाँकि काफी जगहों पर यानी कि काफी प्रदेशों में अभी भी लॉक डाउन चल रहा है।  लेकिन भारत सरकार ने जून में ही अनलॉक 1 शुरू कर दिया था।  इसके बाद अब अनलॉक २.० कल से यानि की 1 जुलाई से शुरू होगा और और इसमें नई गाइडलाइंस के अंतर्गत नए नियम बनेंगे बनेंगे जिस पर जिससे लोगों को कुछ नई सुविधाएं मिल जाएंगी।

अनलॉक 2.0 के अंतर्गत स्कूल कॉलेज के पास कोचिंग सेंटर की 31 जुलाई तक बंद रहेंगे इसके साथ साथ कंटेनमेंट जौन में अभी भी लॉकडाउन बना रहेगा। कंटेनमेंट जोन में सिनेमा हॉल मल्टीप्लेक्स जिम व स्विमिंग पूल अभी भी बंद रहेंगे जोकि 31 जुलाई तक चलेंगे लेकिन बाकी जगहों पर कुछ और छूट मिल जाएगी। जैसे कि नए नियम के अनुसार अब नाईट कर्फ्यू रात के 10:00 बजे से लेकर सुबह 5:00 बजे तक रहेगा और दिन में आप लोग बाकी सारे काम कर सकते हैं।

इसके अलावा दुकानें भी खुली रहेगी। सरकारी ट्रेनिंग सेंटर भी 15 जुलाई से खुल जाएंगे जिससे आप ऑनलाइन लर्निंग या डिस्टेंस लर्निंग आसानी से कर सकते हैं। कंटेनमेंट जोन में धार्मिक गतिविधियों पर रोक रहेगी तथा सामाजिक एवं राजनीतिक सभाओं पर भी रोक रहे रहेगी। एंटरटेनमेंट पार्क एवं पब अब भी बंद रहेंगे।

 नीचे दिए गए चित्र के अनुसार फोटो के अनुसार आप जान सकते हैं कि क्या खुलेगा और क्या बंद रहेगा।


दोस्तों सुरक्षित रहें और जब तक जरूरी ना हो घर से बाहर ना निकले क्योंकि आपका जीवन अमूल्य धन्यवाद
Share:
Continue Reading →